रामसेतू का सच / Truth of RamSetu

तिल को पहाड़ साबित करने की साजिश,जिससे उसके धर्म की महानता के बारे में दुसरे धर्मों के लोग भी जानें ।
समुद्र में आलतु फालतु चीजों के जुडने से कुछ पुल जैसा दिखने लगा है,,
‘क्या बालू की भीत पर खड़ा है हिन्दू धर्म?”
डा. सुरेन्द्र कुमार शर्मा ‘अज्ञात’ का लिखा लेख ”कहां से टपका रामसेतु” इस विषय पर पढते हैं तो पता चलता है कि यह नाम ” राम सेतु”  शब्द तक किसी ग्रंथ में कहीं नहीं मिलता,,कंकर-पत्थ्र  जम-जम कर जो आज  कहीं है कहीं नहीं तो कहीं 10 फुटचौडी पटटी दिखायी दे जाती  है इसको हिन्दू ग्रंथों का 10 योजन अर्थात 128 किलोमीटर चौडा पुल कहा जा रहा,,
लंबाई की बात करें तो श्रीलंका से हिन्दुस्तान की इस हिस्से कुल दूरी 30 किलोमीटर लम्बी है जबकि ग्रंथ में पुल की 1468 किलोमीटर लिखी है,,,विविदित पुल  की लंबाई 30 किलोमीटर ,चौडाई कहीं 10 से  कहीं30 फुट तक ,जबकि रामायण के अनुसार-चौडाई 128 किलोमीटर लंबाई 1288 किलो मीटर वानरों ने पहले दिन 14 योजन, तीसरे दिन 21 योजन, चौथे दिन 22 योजन और 5वें दिन 23 योजन लंबा पुल बांधा इस तरह नल ने 100 योजन अर्थात 1288 किलोमीटर लंबा पुल तैयार किया, पुल 10 योजन अर्थात 128 किलोमीटर चौडा था,
दश्योजनविस्तीर्ण शतयोजनमायतम्दद्टशुर्देवरांधर्वा- नलसेतुं सुदुष्करम–वाल्मिकी रामायण 6/22/76लम्बाई-वाल्मिमिकीरामायण के अनुसार यह नलसेतु 100 योजन अर्थात 1288 किलोमीटर लंबा था (संस्कृत इंगलिश डिक्शनरी के अनुसार 1 योजन 8-9 मील का होता है, यहां हम ने 8 मील मान कर यह किलोमीटर में 1288 का आंकडा दिया है, यदि 9 मील का योजन मानें तो 100 योजन 1468 किलोमीटर होगा) पर अब जो पुल है वह तो केवल 30 किलोमीटर है, शेष 1258 अथवा 1438 किलोमीटर है कहां है ?
पानी में तैरते पत्थरों का सच-
प्यूमिस पत्थर कहीं से हासिल करके उनको उस सेतु का पत्थर बताया जाता है जिससे भारतीय पढे लिखे भी भ्रमित हो रहे  हैं ।

A piece of processed pumice resting on a plastic bag.

Floating stones
उज्जैन साइंस कॉलेज के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ आर एन तिवारी के अनुसार ज्वालामुखी फटने के बाद जब लावा जमता है तो ऐसे पत्थर बनते हैं इनका घनत्व कम होने के कारण यह पानी में तैर सकते हैं,,,,,एसे पत्थरों को प्यूमिस स्टोनPumice Stone कहा जाता है, वहीं भौमिकी अध्ययनशाला विक्रम विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डॉ़ प्रमेंद्र देव ने बताया कि बसाल चटटानों के कारण ऐसे पत्थर बनते हैं, सतह पर छिद्र होने के कारण वजन कम होता है इस कारण यह पानी पर तैर सकते है !ं
वीडियो देखें
अधिक जानकारी हेतु यहाँ क्लिक करें
बडे साइज का Large Pumice Stone इधर देखे


Adam Bridge?:

Adam Peak in Sri Lanka
रोचक तथ्य
If Hanuman had got super natural power to alter his size and according to legend as stated abovethat he had already tried to ate the Sun when he was just a child.  The diameter of Sun is 1.4 million kilometer, In order to eat sun, Hanuman has to increase his mouthsize more 1.4 million kilometer, If the above legend is true, Then why Rama had to build the bridge acrossthe Sea between India and srilanka,
If even Hanuman could increased his body size and put his finger tip on sea between India and Sri Lanka,itself be enough for Rama and Vanara sena to cross the Sea between two countriesAccording to the legend Hanuman is capable of flying.
So he could just increase his body size and could took Rama and Vanara Sena in just Palm of one hand and easily flown to Sri Lanka.Normally People travel on the sea in Boats and ships.British, French, Spanish, Portuguese traveled thousands of Miles/Kilometers across Seas or Ocean in order to reach India.
This Proves that the Adam Bridge is Natural form, Since the Epic Ramayana was written by Valmiki who just Glorified the Character of his fairy tale story Ramayana whose statements itself Contradict.This also Proves that this Story  written by Sage Valmiki is  Baseless without any logic & Just Bedtime Fairy Tale Stories for Small Kids.
Paganism or Idolatory makes a Person Blind, Dumb & Deaf, Just Like Locking themselves in a Dark Room from inside & then throughing Keys from Window to outside. Please use your are Brains& judge whether  these mythologically characters & theirs Idols are worthy of worship or not ?

Note:  Any Person can easily construct a Small Boat & cross the sea shore between India and Sri lank, rather than thinking of  Building a Huge Bridge just to crossover the sea.with Thanks:
For detail : Click here

संग्रहकर्ता –सिकन्दर कुमार मेहता
Facebook ,Twitter,Blog
Call Me – +917654005454

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s