समलैंगिकता अपराध नहीं !

image

समलैंगिकता को अपराध बताने से पहले निम्न बातों पर गौर करें….

1. इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है की आप समलैंगिक या विषमलैंगिक होने के बीच चुनाव कर सकते हैं। समलैंगिकता इस बारे में है की आप अंदर से कैसा महसूस करते हैं, जो जन्म से भी निर्धारित हो सकता है।

“मतलब साफ है कि यह कोई शौक नहीं है।”

2. समलैंगिकता मानव यौनिकता का एक प्राकृतिक हिस्सा है।
यह विचार गलत है कि गे एवं लेस्बियन लोगों के साथ कुछ गड़बड़ या गलत है और अगर कुछ गलत या गड़बड़ है भी तो इसमें उन लोगों का क्या दोष है ???

3. चिकित्सीय या मनोवैज्ञानिक नज़रिए से, समलैंगिक होना पूरी तरह सामान्य है।
समलैंगिकता प्रकृति का हिस्सा है, और केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि बहुत सारे जानवरों की प्रजातियों जिनमें कीट, मछलियाँ एवं स्तनधारी जीव शामिल हैं  जैसे कि- हाथियों, डाल्फि़न, भालुओं, भैसों में भी समलैंगिक रिश्ते होते हैं।

4. समलैंगिकता कोई बीमारी नहीं है अतः इसका इलाज नहीं हो सकता है। इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है की कोई भी चीज़ आपको समलैंगिक से विषमलैंगिक होने में बदल सकती है।
कोई लोग बस जन्म से ऐसे ही होते हैं।

5. कुछ समलैंगिक लोग धार्मिक कारणों या सामाजिक एवं सांस्कृतिक दबाव के कारण अपनी यौनिक भावनाओं का दमन करना या उन्हें छिपाना सीख लेते हैं।

6. कोई व्यक्ति गे या लेस्बियन हैं इसका अर्थ यह नहीं होता की वे अपने लिंग के हर व्यक्ति के साथ सेक्स करना चाहते हैं।

7. यदि आप गंभीर यौन उत्पीड़न को लेकर चिंतित हैं तो यह ध्यान में रखें की ज़्यादातर पुरुष जो पुरुषों का बलात्कार करते हैं, वे विषमलैंगिक ही होते हैं।

8. यदि आपको समलैंगिक सेक्स खराब या घिनौना लगता है तो यह सिर्फ इसलिए है क्योंकि आप अपने ही दृष्टिकोण से इसकी आलोचना कर रहे हैं।
कुछ उसी प्रकार से जैसे, आपका पसंदीदा खाना जो आपको बहुत स्वादिष्ट लगता हो, पर किसी दूसरे व्यक्ति के लिए घृणित हो सकता है।

9. यदि आप एक लड़का हो तो ज़रा सोच के देखो कि अगर आपसे ये कहा जाए कि लड़कियों की तरह कपड़े पहनो व उनकी तरह ही रहन सहन रखो अपना जबकि आपकी भावनाएं (फिलिंग्स) और आपका शरीर तो लड़कों वाला है तो उस स्थिति में आपको कैसा लगेगा ?

चलो मैं तुमसे कह रहा हूँ कि किसी लड़के से शादी कर लो और लड़के के साथ शारीरिक संबंध बनाओ ?
बोलो क्या करोगे ?

कैसा लगा जब ऐसा सुना ? और कितना गुस्सा आया ?

ठीक वैसा ही उन लोगों को भी लगता होगा।

10. यदि आप एक लड़की हो तो सोच के देखो कि अगर आपसे ये कहा जाए कि लड़कों की तरह कपड़े पहनो व उनकी तरह ही रहन सहन रखो अपना जबकि आपकी भावनाएं और आपका शरीर तो लड़कियों वाला है तो उस स्थिति में आपको कैसा लगेगा ???

चलो मैं तुमसे कह रहा हूँ कि किसी लड़की से शादी कर लो और लड़की के साथ शारीरिक संबंध बनाओ ??? बोलो क्या करोगी ???

कैसा लगा जब ऐसा सुना ????? और कितना गुस्सा आया ????

ठीक वैसा ही उन लोगों को भी लगता होगा जैसा आपको लगा।

प्रस्तुतकर्ता – सिकन्दर कुमार मेहता

हमसे जुड़ें –
फेसबुक –एक नास्तिक -1manatheist
ट्विटर – @1manatheist

Advertisements

2 thoughts on “समलैंगिकता अपराध नहीं !

    1. लड़कियों के पहनावे में अक्सर सलवार-कमीजें ,साड़ी, गहने -जेवरातें अथवा अन्य श्रिगांर की वस्तुएं आती है और उनमें थोड़ा शर्मीलापन होता है,हालांकि अब ये सब नहीं देखा जाता है और मैं इसके विरुद्ध भी नहीं ।

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s